Saturday, 8 September 2012

अब नहीं पीटेगा वह !

" मेरी क्या गलती है ...मुझे क्यों मार रहे हो...आप जैसा बोलते हैं , वैसा ही तो करते आ रही हूँ....मत मारो...मुझे मत मारो..." इन्हीं चीखों के साथ एक घर के अन्दर से महिला के जोर-जोर से रोने की आवाज़ आ रही थी. बाहर लोगों की भीड़ जुटी थी. हर आने-जाने वालों का वहां रुकना हो रहा था. दरअसल माज़रा ही कुछ ऐसा था कि न चाहते हुए भी लोगों के कदम थमने लगे थे. उनके कुछ पड़ोसी काफी कुछ समझाने का प्रयास कर रहे थे पर पतिदेव मानने तैयार नहीं थे. अपनी पत्नी को बस पीटे जा रहे थे. पड़ोसियों ने जब उससे पीटने का कारण पूछा तो चौकाने वाला जवाब आया. वो कह रहा था-" सोंचा था,  अब की बार लड़का पैदा होगा लेकिन दूसरी बार भी इस करमजली ने लड़की ही पैदा की  है. लड़का होने की प्रत्याशा में मैंने क्या-क्या नहीं सोंच रखा था. जश्न के लिए काफी कुछ तैयारियां  भी कर ली थी किन्तु इसने फिर लड़की पैदा कर सब कबाड़ा कर दिया है. अब इसे पीटूं नहीं तो क्या इसकी आरती उतारूँ. "  वह किसी की बात सुनाने तैयार नहीं था. इस बीच वहां से एक एम्बुलेंस गुजर रही थी. भीड़ देख  ड्रायवर को इशारा हुआ और एम्बुलेंस भी वहां रुक गई. माज़रा समझने चिकित्सा स्टाफ के साथ डाक्टर साहब की भी उत्सुकता बढ़ गई. जब ये उस घर में पहुचे तब भी वह अपनी पत्नी को पीटे जा रहा था. डाक्टर साहब के पूछने पर भी वहशी पति ने अपने पहले वाला ही जवाब दुहराया. डाक्टर साहब हतप्रभ रहा गए. उन्होंने कहा- पीटना बंद करो तो तुम्हे कुछ बताएं. उसने  पड़ोसियों की बात नहीं मानी पर डाक्टर साहब की बातें गौर से सुनने लगा था. डाक्टर साहब ने उसे बताया कि " गर्भधारण  क्रोमोजोम के संयोग से होता है. उन्होंने समझाया- पुरुष के द्वारा X  और Y क्रोमोजोम पैदा होते है जबकि स्त्री सिर्फ  X क्रोमोजोम पैदा कर सकती है. X  और Y क्रोमोजोम के संयोग से लड़का तो X  और X क्रोमोजोम के संयोग से लड़की पैदा होती है. पुरुष ही केवल Y क्रोमोजोम पैदा करता है.  X  और Y के संयोजन से ही लड़का होता है. इस तरह से पति की हमेशा चाहत होती है कि उसे लड़का पैदा हो. यदि परिवार में सिर्फ लड़कियाँ पैदा होती हैं तो पत्नी की कोई गलती नहीं होती है बल्कि इसमे सारा दोष पति का होता है. ये इसलिए कि जो क्रोमोजोम पति की ओर से प्राप्त होता है, उसी वजह से गर्भ के फल का निर्धारण होता है."  पूरी बात सुनने के बाद वह पश्च्याताप की मुद्रा में खड़ा दिखा. उसने सब के सामने संकल्प लिया कि अब वह कभी अपनी पत्नी को नहीं पीटेगा. 

4 comments:

  1. Replies
    1. धन्यवाद् पटनायक जी.

      Delete
  2. बेहद संजीदगी से कितनी बड़ी बात को आपने एक छोटे से लेख में समझा दिया ....आभार

    ReplyDelete